Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi | गंगूबाई काठियावाड़ी की कहानी

Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi: बॉलीवुड एक्ट्रेस आलिया भट्ट की गंगूबाई काठियावाड़ी मूवीस आने वाली है यह फिल्म real Gangubai Kathiawadi के जीवन पर आधारित है. हम इस लेख में Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi में जानेंगे.

गंगूबाई काठियावाड़ी मुंबई के अंडरवर्ल्ड की सबसे खूंखार महिलाओं में से एक थी वह 60 के दशक के दौरान मुंबई में कई वेश्यालय चलाती थी. उन्हें लोकप्रिय रूप से “Madam of Kamathipura” के रूप में जाना जाता था.

Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi | गंगूबाई काठियावाड़ी की कहानी

गंगूबाई काठियावाड़ी के जीवन में काफी उतार-चढ़ाव आए. उनके जन्म से लेकर मृत्यु तक उन्होंने बहुत सारी मुश्किलों का सामना किया है. आज हम उसके जीवन के बारे में आपको बताएंगे. साथ ही आलिया भट्ट की आने वाली फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी के बारे में भी बताएंगे. साथ ही फिल्म के स्टार कास्ट, रिलीज डेट, ट्रेलर के बारे में जानेंगे.

गंगूबाई काठियावाड़ी कौन थी?

प्रसिद्ध माफिया क्वीन गंगूबाई काठिवाडी का जन्म काठियावाड़ गुजरात के एक प्रसिद्ध परिवार में हुआ था। उसका असली नाम गंगा हरजीवनदास था। बहुत कम उम्र से, वह एक बॉलीवुड अभिनेत्री बनने का सपना देखती थी और अपने सपनों सपनों को पूरा करने के लिए मुंबई आना चाहती थी।

S Hussain Zaidi की किताब ‘Mafia Queens of Mumbai‘ के अनुसार, उन्हें बहुत कम उम्र में वेश्यावृत्ति में धकेल दिया गया था। उसने मुंबई के कमाठीपुरा इलाके में एक कोठा (वेश्यालय) चलाया और बाद में कई कुख्यात अपराधी उसके ग्राहक बन गए।

गंगूबाई काठियावाड़ी का प्रारंभिक जीवन

गंगूबाई का जन्म गुजरात की काठियावाड़ी सन 1940 के आसपास हुआ था उसका पूरा नाम गंगा हरजीवनदास था. काठियावाड़ में जन्म होने के कारण बाद में उन्हें गंगूबाई काठियावाड़ी के नाम से जाना जाता है.

गंगूबाई एक अच्छे कुटुम से ताल्लुक रखने वाली और अपने पिता की लाडली इकलौती बेटी थी. गंगूबाई एक अच्छे कुटुम से ताल्लुक रखने वाली और अपने पिता की लाडली इकलौती बेटी थी. इसके पिता चाहते थे कि पढ़ लिख कर आगे बढ़े. लेकिन इनका पढ़ाई में जरा सा भी मन नहीं लगता था. वह तो बॉलीवुड में एक्ट्रेस बनना चाहती थी. वह हमेशा फिल्मों की ही बात किया करती थी.

जब गंगूबाई 16 साल की थी तब उनके पिता के यहां काम करने वाले अकाउंटेंट रमणिकलाल से प्यार हो गया. इसके साथ भाग कर गंगूबाई ने शादी कर ली.

गंगूबाई का कोठे तक का सफर

गंगूबाई सपनों की नगरी में तो आ गई लेकिन, उसकी खुशियां ज्यादा देर तक टिकने वाली नहीं थी. उसके लिए और भी कठिन समय आने वाला था. रमणिकलाल अच्छे किरदार का व्यक्ति नहीं था उसने अपनी पत्नी को महज 500 रूपये में बेच दिया. इस तरह गंगूबाई जबरदस्ती कोठे पर आना पड़ा.

गंगूबाई को क्या पता था कि उसका पति उसे जिसके साथ भेज रहा है वो मुंबई के कमाठीपुरा रेड लाईट एरिया में कोठा चलती है. पति के जाने के बाद कुछ ही दिनों में गंगूबाई को समझ आ गया था कि अब वह इस दलदल में फंस चुकी है.

उसने अब वेश्या का जीवन स्वीकार कर लिया लेकिन वह इस जगह के बारे में ज्यादा नहीं जानती थी.

(source)

करीम लाला से मुलाकात

मुंबई में साठ के दशक में तीन मुख्य माफिया होते थे, जिनमें से एक माफिया डॉन करीम लाला थे. एक बार शौकत खान नाम के एक आदमी ने गंगूबाई के साथ पूरी रात ज़बरदस्ती की और पूरी रात गुजारने के बाद उसने गंगूबाई को पैसे भी नही दिए.

इस घटना से गंगूबाई की हालत बहुत बिगड़ गए और उसे अस्पताल में भर्ती होना पड़ा. ठीक होने के बाद उसे पता चला कि वह करीम लाला का आदमी था. इसका न्याय मांगने के लिए गंगूबाई करीम लाला के पास गई. उसने करीम लाला को राखी बांध कर अपना भाई बना लिया.

अब गंगूबाई करीम लाला की मुंह बोली बहन हो गई थी और करीम लाला के समर्थन के कारण वह और भी शक्तिशाली हो गई थी. इसके बाद गंगूबाई धीरे- धीरे मशहूर होने लगी. करीम लाला ने ‘कमाठीपुरा’ की कमान गंगूबाई को दे दी थी.

उन्होंने सेक्स-वर्क्स और अनाथों की बेहतरी के लिए भी अपना जीवन समर्पित कर दिया। यहां तक कि उन्होंने उसी समय मुंबई के वेश्या बाजार को हटाने के खिलाफ आंदोलन का नेतृत्व किया। आज भी गंगाबाई की प्रतिमा मुंबई के कमाठीपुरा में स्थापित है।

गंगूबाई काठियावाड़ी की मृत्यु | Gangubai Kathiawadi Death

गंगूबाई काठियावाड़ी की मृत्यु के बारे में कोई भी सही जानकारी नहीं मिलती है. इसके अलावा इनकी मृत्यु के साल के बारे में भी किसी के पास सही जानकारी नहीं है. लेकिन ऐसा माना जाता है कि उनकी मृत्यु सन 1975 से 1978 के बीच हुई थी.

Gangubai Kathiawadi Real Pic

Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi
Gangubai Kathiawadi
Story of Gangubai

गंगूबाई काठियावाड़ी के बारे में कुछ कम ज्ञात तथ्य

  • गंगूबाई काठियावाड़ी साठ के दशक में मुंबई में अंडरवर्ल्ड की सबसे खूंखार महिलाओं में से एक थी.
  • गंगूबाई को लोकप्रिय रूप से ‘कमाठीपुरा की मैडम; कहा जाता था.
  • उनका जन्म गुजरात के काठियावाड़ में एक प्रतिष्ठित गुजराती परिवार में हुआ था
  • उन्होंने सेक्स-वर्क्स और अनाथों की बेहतरी के लिए भी अपना जीवन समर्पित कर दिया.

Leave a Comment